शुगर रोग के क्या कारण है?

शुगर (डायबिटीज) (Diabetes) एक बहुत पुरानी बीमारी हैं इससे छुटकारा पाना आसान नहीं होता। और शुगर रोगियों की सबसे ज्यादा संख्या भारत में ही है। डायबिटीज रोगियों के शरीर में इन्सुलिन बनना बहुत कम हो जाता हैं। इन्सुलिन (Insulin) शरीर के लिए बहुत महत्वपूर्ण होता हैं। क्योकि यह ब्लड से शरीर की कोशिकाओं (Cells) में ग्लूकोज को पहुंचाता है। ताकि उन्हें ताकत मिल सके।

डायबिटीज (Diabetes) के शुरुवाती लक्षण होते है जैसे की प्यास लगना, बार बार पेशाब जाना, चक्कर आना, धीरे धीरे वजन का कम होना और घाव होने पर उनका जल्दी ठीक ना होना। शुगर (डायबिटीज) का समय रहते इलाज ना किया जाए तो आगे चलके बहुत से रोग उत्पन कर देता हैं। जैसे की हार्ट अटैक (Heart Attack), गुर्दो का ख़राब होना और आखो की बीमारी होना। शुगर एक ऐसा रोग हैं जो कभी भी पूरी तरह से ठीक नहीं हो पाता। यदि जरा सी भी लापरवाही होती है तो ये फिर से अपना असर दिखाना शुरू कर देता हैं।

 

शुगर (डायबिटीज) के कारण :-

  1. शरीर में इन्सुलिन की कमी होना
  2. अगर परिवार में किसी एक व्यक्ति को डायबिटीज हैं तो इसकी सम्भावना बढ़ जाती हैं।
  3. कोलेस्ट्रॉल का लगातार बढ़ना
  4. साररिक परिश्रम या व्यायाम (Exercise) ना करना
  5. धूम्रपान, तंबाकू (Tobacco) या कोई दूसरा नशा करने से भी डायबिटीज हो सकती हैं।
  6. हर समय तनाव और डिप्रेशन (Depression) में रहना भी इसका कारण हो सकता हैं।
  7. मोटापा भी इसका कारण हो सकता हैं अगर आप अधिक मोटे हैं तो आप में डायबिटीज की समस्या उत्पन हो सकती हैं।
  8. ज्यादा चाय, कोल्ड्रिंक और चीनी का सेवन करने से भी डायबिटीज हो सकती हैं।

 

यदि आप अपने आस पास डायबिटीज के डॉक्टर को (Diabetologist) ढूंढना चाहते हैं, तो इन आसान चरणों का पालन करें। ये चरण आपको ऑनलाइन नियुक्ति बुक (Book Appointment Online) करने में मदद करेंगे और ऑनलाइन डॉक्टर परामर्श (Online Doctor Consultation) के लिए भी।

चरण 1: जाएँ: GoMedii.com
चरण 2: वांछित चिकित्सक का चयन करें
चरण 3: नियुक्ति के लिए समय स्लॉट चुनें
चरण 4: ओटीपी और पूर्ण के माध्यम से अपनी संख्या की पुष्टि करें

Leave a Comment